ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की लखनऊ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पुर्नविचार याचिका दायर करने पर सहमति YVR UW है।

लखनऊ: ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की लखनऊ में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पुर्नविचार याचिका दायर करने पर सहमति YVR UW है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोर्ड के सदस्यों ने मीडिया से बात चीत की। बाबरी एक्शन कमेटी के संयोजक जफरयाब जिलानी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ आल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड पुर्नविचार याचिका दाखिल करेगा।  Image result for ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

अयोध्या फैसले को लेकर मुस्लिम पक्ष ने नहीं मानी हार, जल्द करेगा रिव्यु पिटीशन दाखिल!

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक रविवार को मुमताज पीजी कॉलेज में हुई। बैठक के बाद प्रेसवार्ता में बोर्ड के सचिव जफरयाब जिलानी ने कहा, मुस्लिम पक्ष को सुप्रीम कोर्ट का फैसला मंजूर नहीं है। इसमें हमारे साथ इंसाफ नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि हम अयोध्या में नई मस्जिद के लिए नहीं गए थे। वहां पहले से 27 मस्जिद हैं। मुस्लिमों ने बाबरी मस्जिद पर अपने हक के लिए मुकदमा दायर किया था।

आगे उन्होंने कहा कि बाबरी मस्जिद की ऐवज में पांच एकड़ जमीन हम नहीं ले सकते। इस्लामी शरीयत भी हमें इजाजत नहीं देती कि हम मस्जिद के बदले में जमीन या कुछ भी लें। उन्होंने कहा कि अधिवक्ता राजीव धवन के मुताबिक हम 30 दिन के अंदर पुनर्विचार याचिका दाखिल कर सकते हैं। इस मामले के सभी पक्षकारों के पास यह अधिकार है। हम अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को चुनौती देंगे।

Image result for बाबरी मस्जिद

मस्जिद की जमीन के बदले में मुसलमान कोई अन्य जमीन कबूल नहीं कर सकते। पर्सनल लॉ बोर्ड को मस्जिद के लिए किसी दूसरी जगह पर जमीन मंजूर नहीं है।

वहीं जमीयत उलमा-ए-हिंद के मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि हमने सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले को चुनौती देने वाली याचिका दायर करने का मन बनाया है। उन्होंने कि हमको पुर्नविचार याचिका पर सुनवाई के बाद कुछ बदलाव होने की संभावना नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here