कई दशकों से चला आ रहा अयोध्या रामजन्मभूमि विवाद का निपटारा अब लगभग-लगभग तय हैं, देश की सबसे बड़ी अदालत

नई दिल्ली: अयोध्या राम जन्मभूमि एक ऐसा विवाद जिसने समूचे हिन्दुस्तान की इबारत पर एक ऐसी लकीर खींच दी है, जिसके आगे मौजूदा दौर में कुछ भी नज़र नहीं आता। आज जब सरयू का किनारा अपने अतीत के पन्ने को पलटने को तैयार है तो पूरे देश में एक अजीब सी बेचैनी है। क्या ये देश की समरसता पर सहजता का परिचय है? या फिर कुछ और…

अयोध्या में मंदिर को तोड़कर नहीं बनाई गई थी मस्जिद, जानिए किसने कहा…..

Image result for ayodhya case

खैर वजह जो भी हो आज अयोध्या संगीनों के साए में समाई हुई है और अयोध्या की हर एक सांस पर करोड़ों लोगों की आस्था की परछाईं इस बात की तस्दीक करती है कि उनके लिए मुद्दा कोई भी हो लेकिन उनके लिए मायने रखता है।

अयोध्या मामला: CJI आज करेंगे यूपी के DGP और चीफ सेक्रेट्री से मुलाकात

Image result for ayodhya case

ऐसे में कई दशकों से चला आ रहा अयोध्या रामजन्मभूमि विवाद का निपटारा अब लगभग-लगभग तय हैं, देश की सबसे बड़ी अदालत यानि कि सुप्रीम कोर्ट दशकों पुरानी एक ऐसी तस्वीर से काला पर्दा हटाने जा रहा जिसके तहत देश में एक नए सूर्य का उदय होगा जिसकी किरणें आने वाली पीढी को एक नया मार्ग प्रशस्त करेगी तो बस थोड़ा इंतजार करें बाकि सब अच्छा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here