अयोध्या मामले को लेकर देश में ना जाने कितने सांप्रदायिक दंगे हो चुके हैं जिसमें हजारों लोग अपनी जान गवा चुके हैं।

    Image result for अयोध्या फैसला आने पर 183 लोग रहेंगे नजरबंद,

राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद मामले को देश का सबसे बड़ा मुद्दा कहा जाता है। यह मुद्दा इतना बड़ा है कि चाहे कहीं भी राज्य में विधानसभा चुनाव हो या देश में लोकसभा चुनाव हर पार्टी इसको अपना मुद्दा बनाकर चुनाव लड़ती हैं। अयोध्या मामले को लेकर देश में ना जाने कितने सांप्रदायिक दंगे हो चुके हैं जिसमें हजारों लोग अपनी जान गवा चुके हैं। हर साल कई पार्टी अयोध्या मामले को मुद्दा बनाकर चुनाव लड़ती है और कहती है कि जीतने के बाद यहां पर राम मंदिर बनवाएगी लेकिन सरकार बनाने के बाद कोई भी सरकार अगले चुनाव आने से पहले वहां पर दिखाई तक नहीं देती।

बहुत सारे लोगों को देश में शांति की फिक्र है।

Related image

अयोध्या मामले की जिम्मेदारी इस बार सुप्रीम कोर्ट ने ली और सुप्रीम कोर्ट में इस केस की सुनवाई रोजाना हुई। अयोध्या विवाद की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है अब देश को इस पर फैसले का इंतजार है। दोनों पक्ष अपनी-अपनी दलीलें पेश कर चुके हैं। इस पर लोगों का अलग अलग मत है लेकिन फैसला चाहे किसी की भी तरफ जाए। बहुत सारे लोगों को देश में शांति की फिक्र है इसीलिए राज्य और केंद्र सरकार कुछ कदम उठाने जा रही है ताकि फैसला आने पर किसी तरह का कोई दंगा ना हो जाए। बताया जा रहा है कि जिस दिन फैसला आएगा उस दिन बसपा के पूर्व विधायक योगेश शर्मा सहित 183 लोग नजरबंद रहेंगे।

आंध्र सरकार ने अब्दुल कलाम प्रतिभा पुरस्कार का नाम बदलने का फैसला लिया वापस

जानकारी के लिए बता दें कि बसपा के पूर्व विधायक योगेश 2018 में भारत बंद के दौरान हिंसा फैलाने के आरोपी रह चुके हैं। राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद का फैसला आने से पहले पुलिस ने 183 लोगों के नाम की लिस्ट जारी की है जो कहीं ना कहीं हिंसा फैलाने के आरोपी रह चुके हैं। पुलिस की सोशल मीडिया पर भी खासी नजर बनी हुई है। लोगों के व्हाट्सएप ग्रुप और फेसबुक पर भी नजर रखी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here