उच्च शिक्षा निदेशालय ने पत्र जारी कर सभी मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज किया है

उत्तर प्रदेश के उच्च शिक्षा निदेशालय का मोबाइल फोन बैन करने को लेकर बयान सामने आया है। उच्च शिक्षा निदेशालय ने पत्र जारी कर सभी मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज किया है, जिसमें बताया जा रहा है कि सरकार ने राज्य के सभी कॉलेज व विश्वविद्यालयों में मोबाइल फोन बैन कर दिया गया है। पत्र में कहा गया है कि शिक्षा बोर्ड द्वारा ऐसे कोई निर्देश नहीं दिए गए हैं।

सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा ने राजनीतिक पारी शुरू की, इस पार्टी से लड़ेंगे चुनाव

Image result for yogi banning mobile phones in colleges

दरअसल, इससे पहले लगातार खबरें आ रही थी कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा राज्य के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में मोबाइल फोन बैन  को लेकर उच्च शिक्षा के निदेशक द्वारा सर्कुलर जारी किया गया है। जिसके अनुसार कालेजों में पूरी तरह मोबाइल फोन पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। साथ ही इससे पहले प्रसारित मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि यह प्रतिबंध केवल छात्रों पर नहीं बल्कि शिक्षकों पर भी लगाया जाने वाला है। उच्च शिक्षा के निदेशक ने कॉलेज और विश्वविद्यालयों में पढ़ाई के अच्छे वातावरण को बढ़ावा देने का कारण देते हुए ये सर्कुलर जारी किया था। सर्कुलर में कहा गया था कि देखा जाता है कि छात्र व शिक्षक पढ़ाई की जगह अक्सर अपने कीमती समय स्मार्ट फोन पर जाया करते हैं।

गिरफ्तार विधायक रमेश कदम के करीबी के फ्लैट से 53 लाख रुपय बरामद

लेकिन बता दें कि समाचार एजेंसी ने जो पत्र जारी किया है,  उसके अनुसार उसमें साफ-साफ उच्च शिक्षा निदेशालय ने अपने पत्र में लिखा है कि उच्च शिक्षा के निदेशक द्वारा ऐसा कोई निर्देश जारी नहीं किया गया है। मीडिया में जो सूचनाएं प्रसारित की जा रही हैं, वह सरासर गलत है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here