अयोध्या मामले की सुनवाई के 39वें दिन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने स्पष्ट तौर पर कहा कि कल इस मामले की सुनवाई का आखिरी दिन होगा।

अयोध्या के राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। अयोध्या मामले की सुनवाई के 39वें दिन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने स्पष्ट तौर पर कहा कि कल इस मामले की सुनवाई का आखिरी दिन होगा। राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले की सुनवाई के दौरान आज चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि आज 39वां दिन है। कल 40वां और इस मामले की सुनवाई का आखिरी दिन।

अयोध्या में अचानक धारा 144 लागू, जानिए किसके हक में जा रहा है फैसला?

अयोध्या मामले में CJI  रंजन गोगोई ने कहा- आज सुनवाई का 39वां दिन और  कल आखिरी दिन

बता दें कि प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ अयोध्या मामले की सुनवाई कर ही है। तो वही मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने कोर्ट से कहा कि निर्मोही अखाड़ा के वकील सुशील जैन की मां का निधन हो गया है। इसलिए सुशील जैन कल बहस करेंगे। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ वकील के.परासरन से पूछा आप किसकी तरफ से बहस करेंगे? तो परासरन ने कहा कि महंत सुरेश दास की तरफ से यानि हिन्दू पक्ष की तरफ से वरिष्ठ वकील परासरन ने बहस की शुरुआत की औऱ कार्यवाई हुई। 15 मिनट के टी ब्रेक के बाद सुनवाई फिर शुरू हुई।

अयोध्या मामले में CJI  रंजन गोगोई ने कहा- आज सुनवाई का 39वां दिन और  कल आखिरी दिन

परासरण के बाद अब हिन्दू पक्षकारों की ओर से सीएस वैद्यनाथन दलीलें दे दी हैं। उन्होंने कहा कि सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड 1949 से लेकर 1992 तक कब्ज़ा खो चुके। हिंदू पक्ष के वकील वैधनाथन ने कहा कि हमने कभी वादा नहीं तोड़ा है। आपको बता दें संविधान पीठ अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित भूमि पर तीन पक्षकारों-सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला के बीच बराबर बराबर बांटने का आदेश देने संबंधी इलाहाबाद उच्च न्यायालय के सितंबर, 2010 के फैसले के खिलाफ दायर 14 अपीलों पर सुनवाई की गई।

अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट से कि मांग 1992 जैसी स्थिति में मस्जिद…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here