लैंडर विक्रम फिर दिखा सकता है अपना जौहर, अभी भी पूरी तरह सुरक्षित : इसरो

0
171
लैंडर विक्रम फिर दिखा सकता है अपना जौहर, अभी भी पूरी तरह सुरक्षित : इसरो

लैंडर विक्रम पूरी तरह सुरक्षित है। उसमें कोई भी टूट-फूट नहीं हुई है।

सूत्रों के मुताबिक ऐसा पता चला है कि लैंडर विक्रम पूरी तरह सुरक्षित है। उसमें कोई भी टूट-फूट नहीं हुई है। इसरो ने लैंडर विक्रम में कुछ ऐसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया है, जिससे वह गिरने के बाद भी खुद को खड़ा कर सकता है, लेकिन यह तब ही मुमकिन है जब कम्यूनिकेशन सिस्टम से संपर्क स्थापित हो सके। साथ ही उसे कमांड भी रिसीव हो पाये।

विक्रम चाँद की सतह पर अपने नियत स्थान से करीब 500 मीटर दूर गिर गया है

लैंडर विक्रम फिर दिखा सकता है अपना जौहर, अभी भी पूरी तरह सुरक्षित : इसरो

विक्रम लैंडर के गिरने से जनता थोड़ी निराश ज़रूर हो गई थी, पर इसरो को अभी भी उम्मीद है विक्रम के खड़े होने की। विक्रम चाँद की सतह पर अपने नियत स्थान से करीब 500 मीटर दूर गिर गया है, लेकिन अगर उससे संपर्क स्थापित करने में कामयाबी मिल जाए तो लैंडर विक्रम अपने पैरों पर खड़ा हो सकता है।

ISRO ने लैंडर विक्रम चंद्रयान -2 को खोजने में कामयाबी हासिल की है। ऑर्बिटर ने ली लैंडर की कई तस्वीरें

लैंडर विक्रम अपने पैरों पर खड़ा हो सकता है।

विक्रम लैंडर में ऑनबोर्ड कम्प्यूटर होने की वजह से वह स्वयं ही बहुत से काम कर सकता है। पर दुर्भाग्यवश विक्रम लैंडर के गिरने से कम्यूनिकेशन सिस्टम का एंटीना दब गया है। यही वह ज़रिया था जिसके द्वारा कम्युनिकेशन सिस्टम को कमांड भेजा जा सकता था। इसरो वैज्ञानिक अभी भी यही कोशिश कर रहे हैं कि कैसे भी उस एंटीना को सक्रिय करके उसके  ज़रिए विक्रम लैंडर को कमांड दिया जा सके। ये माना जा रहा है कि ये कमांड मिलते ही वह अपने पैर पे खड़ा हो सकता है।

नरेंद्र मोदी द्वारा इसरो चीफ को गले लगाने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने दिया बड़ा बयान, उन्होंने कहा…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here