INX मीडिया मामले में पी चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है और जिस जज ने पी चिदंबरम की इस जमानत को खारिज किया है उसे भाजपा की तरफ से एक बड़ा उपहार मिला है।

कांग्रेस के दिन पिछले कुछ समय से ठीक नहीं चल रहे हैं। सबसे पहले 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी बुरी तरह हार गई। उसके बाद लगातार दूसरी बार 2019 लोकसभा चुनाव भी हार गई। लगातार दो बार हार से निराश होकर कांग्रेस पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया।

INX मीडिया केस: सुप्रीम कोर्ट से पी.चिदंबरम को लगा बड़ा झटका…

अभी पार्टी पूरी तरह से उबर भी नहीं पायी थी कि कर्नाटक में कांग्रेस के कई विधायकों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कांग्रेस पार्टी का कर्नाटक में गणित बिगड़ गया। विधायकों के इस्तीफा देने के कुछ दिन बाद ही कर्नाटक में कांग्रेस की बनी-बनाई सरकार जाती रही और बीजेपी ने अपनी नई सरकार बना ली। कुछ दिन की जद्दोजहद के बाद सोनिया गांधी ने कांग्रेस पार्टी के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष की कमान तो संभाल ली, लेकिन कांग्रेस पार्टी के लिए एक और बुरी खबर आ गई।

पी चिदंबरम की जमानत खारिज करने वाले जज को भाजपा की तरफ से मिली खुशखबरी... पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस पार्टी के पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की मुसीबत कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। कुछ दिन पहले ही उन्हें आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार किया गया था। जानकारी के लिए बता दें कि आईएनएक्स मीडिया मामले में पी चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज कर दी गई है और जिस जज ने पी चिदंबरम की इस जमानत को खारिज किया है उसे भाजपा की तरफ से एक बड़ा उपहार मिला है।

वैसे तो पी चिदंबरम काफी समय से आईएनएक्स मीडिया मामले में अग्रिम जमानत पर चल रहे थे। दिल्ली हाई कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस गौर ने अपने रिटायरमेंट से ठीक 2 दिन पहले चौंकाने वाला कदम उठाते हुए उनकी बेल रद्द कर दी थी। जिसके बाद ही चिदंबरम की मुश्किलों में इज़ाफा हो गया।

कटघरे में क्यों मुस्कुराते रहे पी चिदंबरम, सीबीआई से मज़ाक करते हुए बोले…

पी चिदंबरम की याचिका रद्द करने वाले जज को मोदी सरकार की तरफ से एक बड़ा तोहफा मिला है। सुनील गौर को अब प्रीवेंसन ऑफ मनी लांडरिंग एक्ट के लिए अपीलेट ट्रिब्यूनल का अध्यक्ष बना दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here