पुलिस ने मशीनरी और स्पेयर पाटर्स के दुकान के स्वामी अमरजीत सिंह की ओर से स्कूटी सवार अज्ञात नाम की महिला खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी।

पीलीभीत में पुलिस ने एक शातिर चोरनी को पकड़ा है। बता दें कि  बीते 5 दिन पहले पूरनपुर की यूनियन बैंक में जमा करने आये एक व्यापारी के थैले से बैंक के कैश काउंटर पर इस चोरनी ने एक लाख छत्तीस हजार रुपए की चोरी की थी। पूरी घटना बैंक के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। जिसके बाद पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने छान-बीन शुरु की और घटना के 5 दिन बाद पुलिस ने इस शातिर चोरनी को अपनी गिरफ़्त में ले लिया।

अब तक आपने ऐसी घटनाओं के बारे में कई बार सुना और देखा भी होगा। इस तरह की घटना को अंजाम देने में अधिकतर पुरुषों का ही हाथ होता था लेकिन इस बार चोरी की इस घटना को एक महिला ने अंजाम दिया है। सीसीटीवी कैमरे में कैद बैंक से एक लाख 36 हजार रुपए उड़ाने वाला कोई पुरुष नही बल्कि महिला है। जिसे पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है और चोरी का रुपया और घटना में इस्तेमाल की गई नीली स्कूटी भी बरामद कर ली गई है।

 पुलिस की गिरफ़्त में शातिर चोरनी

दरअसल बीते पांच दिन पूर्व शाखा पूरनपुर की यूनियन बैंक में अमरजीत माटा मशीनरी स्टोर के मुनीम विष्णु पांडे यूनियन बैंक में तीन लाख रुपए जमा करने गए थे। बैंक में थैले से रुपए निकालकर विष्णु पैसे कैश काउंटर पर रख रहा था। इस बीच पड़ोस में खड़ी युवती ने कैश कांउटर से एक लाख 36 हजार रुपए पार कर लिए। जानकारी लगने से पहले ही युवती नीली स्कूटी से रुपए लेकर फ़रार हो गई। नक़दी चेक करने पर मुनीम को जब रुपए ग़ायब होने की जानकारी लगी तो उनके होश उड़ गए।

सीसीटीवी फुटेज में युवती के रुपए चोरी कर स्कूटी लेकर फ़रार होने की घटना कैद हो गई थी। पुलिस ने मशीनरी और स्पेयर पाटर्स के दुकान के स्वामी अमरजीत सिंह की ओर से स्कूटी सवार अज्ञात नाम की महिला खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने फुटेज की मदद से स्कूटी की नंबर प्लेट पर लिखा रजिस्ट्रेशन नंबर निकाल लिया। जानकारी करने पर पता चला कि स्कूटी बरखेड़ा थाना क्षेत्र के गांव इगरा की रहने वाली महिला आरती के नाम है। पुलिस ने जब महिला के घर दबिश देकर गिरफ़्तार कर लिया, महिला से सख़्ती से पूछताछ करने पर महिला ने पूरनपुर की बैंक से रुपए चोरी करने की बात स्वीकार ली। उसके बाद पुलिस ने नीली स्कूटी और चोरी का एक लाख रुपया भी बरामद किया। महिला ने चोरी किये रुपए अपने एक रिश्तेदार के यहां रख दिए थे। पुलिस ने उसे भी गिरफ़्तार कर लिया है।

पुलिस की गिरफ़्त में शातिर चोरनी

सांवले रंग का छोटा सा मासूम चेहरा जिसे देखकर हर किसी को तरस आ जाए। कारनामे ऐसे कि लोग दांतो तले उंगली दबाने पर मजबूर हो जाएं। आरती ने बैंक में पलक झपकते ही एक लाख से अधिक की नक़दी पर हाथ साफ कर दिया था। वारदात को सफाई के साथ अंजाम देने वाली यह महिला चोरी के आरोप में छह महीने पहले ही जेल से छूटकर आई थी।

घटना को अंजाम देने से पांच मिनट पहले ही युवती अमरजीत सिंह की दुकान के सामने से स्कूटी लेकर गुज़री थी। बैंक पहुंचते ही युवती कैश काउंटर पर बड़ी ही चालाकी के साथ पहुंच गई। वहां मौजूद अन्य लोगों को पीछे ढकेलते हुए वह मुनीम के पास पहुंच गई। छोटा कद और चेहरे से मासूम दिखने वाली युवती का किसी ने विरोध भी नहीं किया। जबकि मुनीम के रुपए काउंटर पर रखते वक्त लाइन में लगे सभी की नज़रें उसी तरफ थी, इसके बावजूद भी शातिर महिला ने आंखों से काजल चुराने की कहावत को सही साबित करते हुए सभी की नज़रों के सामने से रुपए पार कर लिए। भीड़ में उसकी हरकत को कोई भी भाँप नहीं सका। रुपए हाथ में आने के बाद उन्हें दुपट्टे से छिपाकर युवती फ़रार हो गई थी। घटना को अंजाम देने से ही पता चलता है कि युवती चोरी में काफी माहिर है।

पुलिस की माने तो महिला का यह पहला मामला नहीं है बल्कि पीलीभीत में भी चोरी करने पर उसे जेल भेजा गया था। छह महीने पहले ही वह जिला जेल से छूटकर आई है। जेल से आने के बाद से वह चोरी की घटनाओं को फिर से अंजाम देने लगी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here