बिना वकील अब लड़ सकते हैं केस,यहां जाने पूरी जानकारी

0
114
बिना वकील अब लड़ सकते हैं केस,यहां जाने पूरी जानकारी

मोदी सरकार का दावा अब बिना वकील लड़ सकते हैं केस

कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल 2019  को संसद  की मंजूरी मिलने के बाद अब सरकार  इसे लागू करने की तैयारी कर रही है। कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल 2019  संसद के दोनों सदनों में पास होने और राष्ट्रपति से मंजूरी मिल जाने के बाद एक्ट बन गया है। कंज्यूमर अफेयर सचिव अविनाश श्रीवास्तव ने कहा कि अगस्त महीने के आखिर तक इसे नियम बनाने का काम करेंगे और अगले 3 महीने में सारे रूल्स तैयार हो जाएंगे। जिसके बाद नए बिल में ग्राहकों को  बिना वकील के लड़ने का अधिकार मिला है।

अब जिला में 1 करोड़ रुपये तक की शिकायत और राज्य स्तर पर 10 करोड़ रुपये की शिकायत कर सकते हैं. पहले वकील रखना पड़ता था, अब बिना वकील के आप लड़ सकते हैं ।

पीएम नरेंद्र मोदी ने रामायण कालीन के इस संजीवनी का किया जिक्र,

अब विज्ञापनों में झूठे वादे करने या गलत जानकारी देने पर कंपनियां, सर्विस प्रोवाइडर्स और तक कि उस विज्ञापन को एंडोर्स करने वाले सेलेब्रिटीज को भी सजा हो सकती है. इन चीजों का दोषी पाए जाने पर जुर्माना या जेल की सजा हो सकती है. इस बिल में प्रावधान रखा गया है कि कोई भी विज्ञापन चाहे वो- प्रिंट, रेडियो, टेलीविजन, आउटडोर, ई-कॉमर्स, डायरेक्ट सेलिंग या टेलीमार्केटिंग किसी भी माध्यम से किया जा रहा हो, अगर इसमें गलत जानकारी दी जाएगी तो ये अपराध की श्रेणी में आएगा.

 

इस बिल के प्रावधान के मुताबिक, सर्विस प्रोवाइडर्स को 10 लाख रुपये के जुर्माने के साथ अधिकतम 2 साल की जेल की सजा हो सकती है. वहीं सेलेब्रिटीज को 10 लाख रुपये का जुर्माना झेलना पड़ सकता है. वहीं, बार-बार ये गलती करने पर अथॉरिटी उन पर 50 लाख रुपये के जुर्माने के साथ-साथ 5 साल तक जेल की सजा दे सकती है.

इतना ही नहीं, अथॉरिटी किसी सेलेब्रिटी के विज्ञापन एंडोर्स करने पर एक साल तक की रोक भी लगा सकती है. वहीं बार-बार यह गलती करने पर यह रोक तीन साल तक बढ़ाई जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here