बच्चों के घर पहुंचेगा अंडा, जी हां ये फैसला प्रशासन ने बच्चों की सेहत को देखकर नहीं बल्कि अंडे पर मचे बवाल को देखकर लिया है.

दरसल छत्तीसगढ़ के स्कूलों में भोजन में अंडा परोसने के फैसले का विरोध होने के बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने कलेक्टरों से कहा है कि यदि स्कूलों में अंडा मुहैया कराने को लेकर सहमति नहीं बनें, तो मांसाहारी बच्चों के घरों में अंडा पहुंचाने की कोशिश की जाए.

अंडे का नया फंडा, अंडे पर हुआ बवाल, अब घर पहुंचेगा अंडा

छत्तीसगढ़ के स्कूलों में मध्याह्न भोजन में अंडा परोसने के फैसले का विरोध होने के बाद स्कूल शिक्षा विभाग ने कलेक्टरों से कहा है कि यदि स्कूलों में अंडा मुहैया कराने को लेकर सहमति नहीं बनें, तो मांसाहारी बच्चों के घरों में अंडा पहुंचाने की कोशिश की जाए. यहां के होटलों में मटन की जगह परोसा जा रहा है कुत्ते का मांस

अंडे का नया फंडा, अंडे पर हुआ बवाल, अब घर पहुंचेगा अंडा

दरसल स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव ने कलेक्टरों को निर्देश दिया है कि स्कूली स्तर पर शाला विकास समिति एवं अभिभावकों की बैठक आयोजित कराई जाए. इस बैठक में ऐसे छात्र-छात्राओं को चिह्नित किया जाए जो मध्याह्न भोजन में अण्डा खाना नहीं करना चाहते हैं. भोजन तैयार करने के बाद अलग से अंडे उबालने या पकाने की व्यवस्था की जाए.

अंडे का नया फंडा, अंडे पर हुआ बवाल, अब घर पहुंचेगा अंडा

पत्र में यह भी कहा गया है कि यदि बैठक में भोजन में अण्डा परोसे जाने पर आम सहमति न बने, तो ऐसे स्कूलों में मिड-डे मील के साथ अंडा ना दिया जाए और विकास समिति अंडा घर में पहुंचाने की व्यवस्था करे. अपने घर में घुसा पानी, तो पड़ोसी के घर पहुंचा बाघ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here