शोध में पाया गया कि थर्ड-हैंड धूम्रपान से है खतरा

0
284
शोध में पाया गया कि थर्ड-हैंड धूम्रपान से है खतरा

वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि थर्ड-हैंड धूम्रपान (टीएचएस) भी नुकसानदायक है।

धूम्रपान करना आज के युवा के लिए एक फैशन बन गया है। धूम्रपान से स्वास्थ्य पर होने वाले खतरे के बारे में जानते हुए भी लोग इसका सेवन करते हैं। सेकेंड हैंड के धूम्रपान से होने वाले खतरे के बारे में तो सभी जानते हैं। लेकिन अब थर्ड-हैंड धूम्रपान (टीएचएस) भी किसी व्यक्ति के श्वसन स्वास्थ्य पर असर डाल सकता है। जी हां, आपने सही सुना। वैज्ञानिकों ने शोध में पाया कि थर्ड-हैंड धूम्रपान (टीएचएस) भी नुकसानदायक है। एक समाचार एजेंसी के अनुसार, इस शोध का प्रकाशन इस हफ्ते ही किया गया है।

शोध में पाया गया कि थर्ड-हैंड धूम्रपान से है खतरा

शोधकर्ताओं को का मानना है कि थर्ड हैंड धूम्रपान श्वसन तंत्र में इपीथिलियल कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है। टीएचएस का परिणाम धूम्रपान में श्वास छोड़ने व सिगरेट के जलने से निकलने वाले धुएं के सतह जैसे कपड़े, बाल व फर्नीचर पर गिरने की वजह से होता है। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया रिवरसाइड (यूसीआर) के शोधकर्ताओं ने पाया कि 27 से 49 साल की आयु वाली चार स्वस्थ धूम्रपान नहीं करने वाली महिलाओं के नेजल स्क्रेप्स को बिना किसी क्रम के स्वच्छ वायु के संपर्क में रखा गया और इसके बाद तीन घंटे के लिए टीएचएस के संपर्क में रखा गया। शोधकर्ताओं ने उनके राइबोन्यूक्लिक एसिड (आरएनए) के जीन एक्सप्रेशन में बदलाव की जांच के लिए उनका आरएनए लिया।

अध्ययन के अनुसार, डेटा सेट में लगभग 10,000 जीनों में से कुल 382 जीनों में महत्वपूर्ण रूप से अधिक बदलाव और सात अन्य जीनों में कम बदलाव देखे गए। थर्ड हैंड धूम्रपान श्वसन तंत्र में इपीथियल कोशिकाओं को नुकासान पहुंचा सकता है ये तो आपको मालूम हो गया। अगर आप अब भी धूम्रपान करते हैं तो इसे तुरंत छोड़ दिजिए। क्योंकि आपके स्वास्थ्य के लिए धूम्रपान हानिकारक है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here