वाइस एडमिरल की याचिका रक्षा मंत्रालय ने की ख़ारिज, उठाये थे ये सवाल

0
263
वाइस एडमिरल

रक्षा मंत्रालय की ओर से भारतीय नौसेना के वाइस एडमिरल बिमल वर्मा की याचिका को खारिज कर दिया गया है। इस याचिका के जरिए उन्होंने अगले नौसेना अध्यक्ष के रूप में वाइस एडमिरल करमबीर सिंह की नियुक्ति को चुनौती दी थी।

बताते चलें कि इस मामले को लेकर वर्मा का कहना था कि वह करमबीर सिंह से वरिष्ठ हैं, फिर भी उनको तरजीह न देते हुए सिंह को नौसेना अध्यक्ष बनाया जा रहा है। जिसके खिलाफ उन्होंने इस मामले में याचिका दायर की थी। इस मामले को लेकर बीती 10 अप्रैल को रक्षा मंत्रालय में वैधानिक शिकायत दर्ज कराई गई थी।.

वाइस एडमिरल

वहीं अब उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया है और इसका जवाब देते हुए मंत्रालय के संयुक्त सचिव की ओर से कहा गया है कि नया अध्यक्ष नियुक्त करने के लिए वरिष्ठता एक महत्वपूर्ण पैमाना है लेकिन यह इकलौता पैमाना नहीं है। अतीत में भी नौसेना अध्यक्षों की नियुक्ति करते समय इस नियम को शिथिल किया गया था।

रक्षा मंत्रालय की ओर से कहा है कि ‘केंद्र सरकार ने सावधानीपूर्वक 10 अप्रैल को दाखिल की गई वर्मा की वैधानिक शिकायत पर विचार किया, जो उन्होंने खुद को नौसेना अध्यक्ष न बनाए जाने को लेकर दाखिल की थी। उनकी शिकायत को योग्यता रहित पाते हुए खारिज कर दिया गया है।

परीक्षण करने पर केंद्र सरकार नई नियुक्ति के पैमानों को लेकर संतुष्ट है। ऐसे में वर्मा जो कि नौसेना के सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं, उन्हें नौसेना के अगले अध्यक्ष के पद के लिए अयोग्य पाया गया।’

बताते चलें कि बीती 23 मार्च को भारतीय नौसेना के वाइस एडमिरल करमबीर सिंह को नौसेना का अगला प्रमुख नियुक्त करने की घोषणा की गई थी। यह जानकारी रक्षा मंत्रालय की ओर से दी गई थी।

जिसके बाद सेना में तैनात सबसे वरिष्ठ वाइस एडमिरल बिमल वर्मा ने इस नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए एक याचिका दाखिल की थी, जिसे अब खारिज कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here