अयोध्या मामले में मध्यस्थता समिति ने SC से 15 अगस्त तक का मांगा समय

0
308
अयोध्या राम मंदिर मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई-AB STAR NEWS
नई दिल्ली

अयोध्या राम मंदिर मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई । बता दें कि, इससे पहले हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि दोनों बातचीत कर के मामले को सुलझा लें । सुनवाई के दौरान जस्टिस एफएमआई खलीफुल्ला ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट दाखिल की, जिसमें मध्यस्थता प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 15 अगस्त तक का समय मांगा गया है । जिसके बाद अब अयोध्या राम मंदिर विवाद के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 15 अगस्त तक का समय बढ़ा दिया है ।

इस दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि, ‘हम मामले में मध्यस्थता कहां तक पहुंची, इसकी जानकारी सार्वजनिक नहीं कर सकते हैं। फिलहाल इसको गोपनीय रखा जाए । वहीं, अयोध्या मामले में अभी 13 हजार 500 पेज का अनुवाद किया जाना बाकी है। मुस्लिम याचिकाकर्ताओं ने अनुवाद पर सवाल उठाते हुए कहा कि अनुवाद में कई गलतियां हैं। इसके बाद कोर्ट ने मुस्लिम पक्षकार को अपनी आपत्तियों को लिखित में दाखिल करने की इजाजत दे दी है।

बता दें कि, इससे पहले 8 मार्च को अयोध्या की भूमि पर मालिकाना हक के मामले को सुलझाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता की इजाजत दी थी। मध्यस्थों की कमेटी में जस्टिस इब्राहिम खलीफुल्ला, वकील श्रीराम पंचू और आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर शामिल हैं। बता दें कि इस कमेटी के चेयरमैन जस्टिस खलीफुल्ला हैं । इस कमेटी को 8 हफ्तों में अपनी रिपोर्ट देने को कहा गया था। कोर्ट ने सख्त आदेश देते हुए कहा था कि, मध्यस्थता पर कोई मीडिया रिपोर्टिंग नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता की प्रक्रिया को फैजाबाद में करने का आदेश दिया था । लेकिन अब राम मंदिर मामले में बातचीत करने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थतों को 3 महीने का वक्त दिया गया है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here