{:en}Punishment of Narayan Sai can be declared today{:}{:hi}आसाराम के बेटे नारायण साईं की सजा का आज हो सकता है ऐलान{:}

0
457
Punishment of Narayan Sai can be declared

{:en}Asaram Bapu’s son Narayan Sai accused by two sisters of raping After which, the hearing will be in the court today on Narayan Sai. On April 26, two sisters of Surat had accused Narayan Sai of raping them. After which the court had taken the decision that, on April 30 Narayan Sai will be sentenced. Narayan Sai Narayan Sai Narayan Sai Narayan Sai

Narayan Sai can be punished in Surat’s court today. In view of this, Surat police have put security around the court. A large number of police forces have been deployed in the court. Explain that, on April 26, both the sisters presented evidence against Narayan Singh against the court. After which the court decided that on 30th April Narayan Singh will be sentenced. While the elder sister had filed a case against Asaram. The case is going on in the court of Gandhinagar against Asaram. Narayan Sai Narayan Sai Narayan Sai

When both the victim sisters accused Rape against Narayan Singh and filed an FIR, then he had been underground. After this allegation, he has made lakhs of attempts to save himself from the police. The then Surat Police Commissioner Rakesh Asthana made 58 different teams to arrest Narayan Sai and started the search. Nearly two months after the FIR was lodged, Narayan Sai was arrested in December 2013 near Haryana-Delhi border. During the arrest, Narayan Sai had misled the Sikh person. Narayan Sai Narayan Sai Narayan Sai{:}{:hi}आसाराम बापू के बेटे नारायण साईं पर दो बहनों ने रेप करने का आरोप लगाया था । जिसके बाद आज अदालत में नारयण सिंह पर सुनवाई होगी । बता दें कि, 26 अप्रैल को सूरत की रहने वाली दो बहनों ने नारयण साईं पर रेप करने का आरोप लगाया था । जिसके बाद अदालत ने यह फैसला लिया था कि, 30 अप्रैल को नारायण सिंह को सजा सुनाई जाएगी ।

बता दें कि, नारायण साईं को आज सूरत की अदालत में सजा दी जा सकती है । जिसके मद्देनजर सूरत पुलिस ने कोर्ट के आस-पास सुरक्षा लगा दी है । कोर्ट में खासी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है । बता दें कि, 26 अप्रैल को दोनों पीड़ित बहनों ने नारायण सिंह के खिलाफ अदालत के सामने सबूत पेश किए थे । जिसके बाद अदालत ने फैसला लिया कि 30 अप्रैल को नारायण सिंह को सजा सुनाई जाएगी । जबकि बड़ी बहन ने आसाराम के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। आसाराम के खिलाफ फिलहाल गांधीनगर के कोर्ट में मामला चल रहा है।

आपको बता दें कि, जब दोनों पीड़ित बहनों ने नारायण सिंह के खिलाफ रेप का आरोप लगाया और एफआईआर दर्ज की तो, उसके बाद वह अंडरग्राउंड हो गया था । इस आरोप के बाद से उसे पुलिस से बचने की लाख कोशिशें की । तत्कालीन सूरत पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने नारायण साईं को गिरफ्तार करने के लिए 58 अलग-अलग टीमें बनाई और तलाशी शुरू कर दी । एफआईआर दर्ज होने के करीब दो महीने बाद दिसंबर, 2013 में नारायण साईं हरियाणा-दिल्ली सीमा के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के वक्त नारायण साईं ने सिख व्यक्ति का भेष धर रखा था ।{:}

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here