{:en}Terrorism can’t be ruined by only one airstrike : Manish Tewari{:}{:hi}पुलवामा हमला :एक एयरस्ट्राइक से नहीं खत्म हो सकता यह आतंकवाद- मनीष तिवारी{:}

0
379
पुलवामा हमला :एक एयरस्ट्राइक से नहीं खत्म हो सकता यह आतंकवाद- मनीष तिवारी-AB STAR NEWS

{:en}After the Pulwama terror attack, the Indian Army reversed Pakistan by airstriching. After which airstreck was made a political issue. On the same air strike, the opposition attacked the Modi government and demanded evidence of killing 300 terrorists. At the same time, once again the former Union minister Manish Tewari has given a big statement about the matter.

In fact, former Union Minister Manish Tewari has said that national security and the country is empowered when young people work, there is no panic and fear. On the day of the Air Strike, Prime Minister Modi rallies, in which photographs of martyrs took place on stage. Union Minister Prakash Javdekar on the use of photograph of martyrs in the PM’s program said that there is nothing wrong in this, the martyrs of the people of this country are respected. After the 26/11 attack then the then prime minister did not allow air strikes, we gave it because we are different.

At the same time Congress leader Manish Tewari said that he would like to remind that in 1984 similar aircraft was taken by a hijack to Dubai. But our government did not just bring the people safely, provided the kidnappers also brought them. Tiwari says that terrorism is Pakistan’s policy, it will not end with an asterisk.{:}{:hi}पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना ने एयरस्ट्राइक कर पाकिस्तान को पलटवार किया । जिसके बाद एयरस्ट्राइक को राजनीतिक मुद्दा बना दिया गया । इसी एयरस्ट्राइक पर विपक्ष ने मोदी सरकार पर हमला कर उनसे 300 आतंकियों को मारने के सबूत भी मांगे । वहीं एक बार फिर इस मामले को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने बड़ा बयान दिया है ।

दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने कहा है कि, राष्ट्रीय सुरक्षा और देश सशक्त तब होता है जब नौजवानों के हाथ में काम हो, आतंक और भय का माहौल न हो। एयर स्ट्राइक के दिन प्रधानमंत्री मोदी रैली करते हैं जिसमें मंच पर शहीदों की तस्वीरें लगी थी। पीएम के कार्यक्रम में शहीदों के तस्वीर के इस्तेमाल पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि इसमें कुछ गलत नहीं है, ये देश के लोगों का शहीदों को सम्मान है। 26/11 हमले के बाद तब के प्रधानमंत्री ने हवाई हमले की इजाजत नहीं दी, हमने दी इसीलिए हम अलग है ।

वहीं कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि वे याद दिलाना चाहेंगे कि 1984 में इसी तरह एक विमान हाईजैक कर दुबई ले जाया गया था। लेकिन हमारी सरकार ना सिर्फ जनता को सुरक्षित लेकर आई थी बशर्ते अपहरणकर्ताओं को भी ले आई थी। तिवारी का कहना है कि आतंकवाद पाकिस्तान की नीति है, एक एयस्ट्राइक से खत्म नहीं होगा ।{:}

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here