राम मंदिर : मोदी सरकार पर भरोसा, मंदिर वहीं बनेगा वरना आंदोलन जारी रहेगा

0
376

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तीन दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा का आज ग्वालियर में समापन हुआ। इस अवसर पर आरएसएस सरकार्यवाह भैयाजी जोशी ने राम मंदिर मुद्दे पर अपना पक्ष रखा। उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर भरोसा जताया।

बता दें कि इसी सप्ताह सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर पर मध्यस्थता के लिए 3 सदस्यों का पैनल नियुक्त किया है। भैयाजी जोशी ने राम मंदिर के लिए मोदी सरकार पर पूरा भरोसा जताया। उन्होंने कहा, ‘हम मानते हैं कि सत्ता में बैठे हुए लोगों में अभी राम मंदिर का विरोध नहीं है। उनकी प्रतिबद्धता को लेकर हमारे मन में कोई शंका नहीं है।’ लोकसभा चुनावों से ठीक पहले संघ ने एक बार फिर मोदी सरकार पर पूरा भरोसा जताया।

बता दें कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्य़क्ष अमित शाह प्रतिनिधि सभा के सम्मेलन में शामिल होने शनिवार को पहुंचे थे। इस पर आरएसएस के सह सरकार्यवाहक दत्तात्रेय होसबोले ने कहा था कि वह हर साल बैठक में आते हैं और इसका आने वाले चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है। संघ की ओर से पहले ही कहा गया है कि चुनाव में ज्यादा से ज्यादा मतदान हो, इसके लिए कार्यकर्ता काम करते हैं।

उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि प्रतिनिधि सभा का काम मोदी सरकार के कामकाज की समीक्षा करना नहीं है। सभा ने कभी भी किसी भी सरकार के कामकाज की समीक्षा नहीं की।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद के समाधान खोजने के लिए 3 सदस्यों वाली मध्यस्थता कमिटी का गठन किया है। कमिटी के अध्यक्ष सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस एफ. एम. कलीफुल्ला हैं। अन्य दो सदस्यों में आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर और वरिष्ठ वकील श्रीराम पांचू शामिल हैं। यह संयोग ही है कि मध्यस्थता पैनल में शामिल तीनों ही नाम तमिलनाडु से ताल्लुक रखते हैं।

मंदिर निर्माण तक आंदोलन जारी रखने की बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘1980-90 से जो आंदोलन चल रहा है, जब तक मंदिर पूरा नहीं होगा तब तक हमारा आंदोलन चलता रहेगा। हम न्यायालय से अपेक्षा करते हैं कि शीघ्रता से इस मुद्दे पर फैसला हो।’ बता दें कि मध्यस्थता के लिए कोर्ट ने 8 सप्ताह का समय तय किया है। कोर्ट की ओर से आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर, मध्यस्थता कानूनों के विशेषज्ञ श्रीराम पंचू और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस इब्राहिम खलीफुल्लाह को मध्यस्थता पैनल के लिए नामित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here