लोकसभा चुनाव 2019 : निर्वाचन आयोग ने अफसरों को लगाई फटकार, समय पर ही होंगे चुनाव

0
313

देश लोकसभा चुनाव के मुहाने पर खड़ा है, इस बीच चुनाव आयोग ने घोषणा की है कि आम चुनाव अपने तय समय से होंगे। चुनाव आयोग इसके लिए पूरी तरह तैयार है। चुनाव आयोग जल्द ही लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा करेगा। आयोग ने कहा कि पांच मार्च तक मतदान केंद्र व मतदाता सूची का काम पूरा कर आयोग को ब्यौरा उपलब्ध कराएं। चुनाव पूरी पारदर्शिता के साथ व शांतिपूर्ण होना चाहिए।

तीन दिनी लखनऊ दौरे के दूसरे दिन चुनाव आयोग ने विधानभवन के तिलक हॉल में सभी मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों, आइजी, डीआइजी, एसएसपी/एसपी के साथ बैठक थी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि अधिकारी चुनाव को गंभीरता से लें। यूपी का चुनाव सबसे कठिन माना जाता है, यहां सकुशल चुनाव हो गया तो पूरे हिंदुस्तान में अच्छा संदेश जाता है, यहां खराब होता है तो पूरे देश में गलत मैसेज जाता है।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, ‘ईवीएम को हमने जाने-अनजाने में पूरे देश मे फुटबॉल बना दिया है। रिजल्ट अनुकूल है तो ईवीएम ठीक है और नहीं तो खराब।’ उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग ने फॉर्म 26 में शपथपत्र के प्रारूप में बदलाव किया है। अब प्रत्याशी को पति/पत्नी बच्चों/ आश्रितों के 5 साल की आय का ब्यौरा देना होगा। इसमें देश के साथ ही विदेश की सम्पत्ति का भी ब्यौरा शामिल है।

आयोग ने कहा कि मतदान केंद्रों पर रैंप व व्हील चेयर की सुविधा होनी चाहिए। धूप से बचने के लिए शेड, पीने के पानी व शौचालय आदि की व्यवस्था दुरुस्त होनी चाहिए। जिन मतदान केंद्रों में बिजली नहीं है वहां तत्काल इसकी व्यवस्था की जाए। चुनाव आयोग ने कहा कि जो जिले अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे हैं वहां विशेष चौकसी बरती जाए। दूसरे राज्यों से सटी सीमाओं पर भी नाकेबंदी की जाए।

आयोग ने 2004 में लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा 29 फरवरी को चार चरण में, 2009 में दो मार्च को पांच चरण में और 2014 में पांच मार्च को नौ चरण में कराने की घोषणा की थी। पिछले तीनों लोकसभा चुनाव अप्रैल से मई के दूसरे सप्ताह में संपन्न करा लिये गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here