अमेरिका द्वारा इराक में हवाई हमला करने से 70 नागरिकों की मौत

0
353

Ab star news अमेरिका सुरक्क्षा बल द्वारा सीरीया के पूर्वी इलाके में हवाई हमला करने से 70 नागरिकों की मौत हो गई है, और दर्जनों लोग जख्मी हो गए है,

सीरिया के पूर्वी इलाके में मंगलवार को अमेरिका नीत सुरक्षा बलों के हवाई हमलों में 70 नागरिक मारे गए। दर्जनों लोग जख्मी हुए हैं। हवाई हमले पूर्वी इलाके में स्थित डायर अल-जौर में विस्थापितों के शिविर को निशाना बनाकर किए गए थे। आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के पूर्वी यूफ्रेट्स नदी क्षेत्र में कब्जा बढ़ाने के कारण हवाई हमलों में वृद्धि हुई है।

अमेरिका द्वारा किए गए इस हमले में 70 के करीब नागरिक मारे गए है। दर्जनों लोग जख्मी हुए हैं। हवाई हमले पूर्वी इलाके में स्थित डायर अल-जौर में विस्थापितों के शिविर को निशाना बनाकर किए गए थे। दरसल यह हमला आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट द्वारा यूफ्रेट्स नदी क्षेत्र में अपना कब्जा बढाने के कारण हुआ, इसी कारण अमेरिका ने इस हमले को अंजाम दिया

अमेरिका समर्थित सीरियाई डेमोक्रेटिक फोर्सेस (एसडीएफ) मीडिया कार्यालय के प्रमुख मुस्तफा बल्ली के अनुसार पूर्वी सीरिया में पूर्वी यूफ्रेट्स नदी क्षेत्र में आईएस के खिलाफ हमलों के अंतिम चरण पर अभियान शुरू किया गया है।

मुस्तफा बल्ली ने बताया कि आईएस ने जिस क्षेत्र में कब्जा किया है उस क्षेत्र में शनिवार रात को ही अभियान शुरू कर दिया था, और उस क्षेत्र से 20,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित निकाल दिया गया, इस पूरे अभियान में अमेरिका की सेना के साथ-साथ एसडीएफ की टीम मिलकर अभियान चला रही है

इस अभियान में अमेरिकी सेना भी एसडीएफ के साथ मिलकर आईएस के कब्जे से इलाके छुड़ाने के अभियान में जुटी हुई है। खूफिया जानकारी के बाद संवेदनशील इलाकों में अमेरिका ने सर्च अभियान तेज कर दिया है।

सोमवार को इराक के गृह मंत्रालय की जानकारी के अनुसार इराक में इस्लामिक स्टेट के 186 आतंकवादियों को पकड़ा गया,, यह सफलता सेना को इराक के पश्चिमी क्षेत्र से मिली है

बगदाद ऑपरेशन कमांड के प्रवक्ता साद मान के मुताबिक, हिरासत में लिए गए कट्टरपंथी हमलावरों ने अपने-अपने बयानों पर हस्ताक्षर किए हैं। इन आतंकवादियों ने अल-बन निम्र जनजाति के नागरिकों की तब हत्या कर दी थी, जब उन्होंने आतंकियों के समूह में शामिल होने से इंकार कर दिया था।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here